प्रथम चरण में जनपद हरिद्वार में दस ग्रामों को आदर्श ग्राम बनाये जाने के निर्देश : मंत्री यतीश्वरानन्द

Share Now

देहरादून। प्रदेश के ग्राम्य विकास मंत्री यतीश्वरानन्द की अध्यक्षता में ग्राम्य विकास विभाग की बैठक यमुना कालोनी स्थित कार्यालय कक्ष में आयोजित की गयी। जिसमें मंत्री द्वारा प्रदेश में मनरेगा के अन्तर्गत किये जा रहे कार्याे की समीक्षा की गयी। बैठक में मंत्री द्वारा मनरेगा के अन्तर्गत किये जा रहे कार्याे की धीमी गति पर नाराजगी व्यक्त की गयी। विभागीय सचिव को तत्काल मनरेगा के कार्यों में गति लाने के निर्देश दिये गये।
मंत्री द्वारा प्रथम चरण में जनपद हरिद्वार में दस ग्रामों को आदर्श ग्राम बनाये जाने के निर्देश दिये गये, प्रत्येक गॉवों का तत्काल सर्वे कराकर एक अभियान के तहत प्रत्येक गॉवों को शत-प्रतिशत शौचालय युक्त बनाए जाने के निर्देश दिये गये। मंत्री द्वारा प्रत्येक सी0डी0ओ0 तथा  बी0डी0ओ0 को मनरेगा के कार्याे में रूचि लेकर कार्य कराए जाने हेतु और सचिव ग्राम्य विकास को अपने स्तर से कैम्पों का आयोजन कर मनरेगा के कार्याे में तेजी लाने के लिए निर्देश दिये गये। मंत्री द्वारा मनरेगा कार्मिकों को देय मानदेय में रूपये 2000 से 3000 तक वृद्धि करने हेतु पत्रावली प्रस्तुत करने के निर्देश दिये गये तथा हड़ताल अवधि का मानदेय मनरेगा कार्मिकों को दिये जाने हेतु पत्रावली प्रस्तुत करने के निर्देश दिये गये।इस अवसर पर ग्राम्य विकास सचिव एस0 एस0 मुरूगेशन सहित अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!