केन्द्रीय जांच ऐजेंसियों के उपयोग में मोदी सरकार का दोहरा मापदण्ड

Share Now

देहरादून। कांग्रेस महामंत्री नवीन जोशी ने केन्द्र की मोदी सरकार पर केन्द्रीय जांच ऐजेंसियों के मामले में दोहरा मापदण्ड अपनाने का आरोप लगाते हुए कहा कि केन्द्र की मोदी सरकार ईडी और सीबीआई जैसी केन्द्रीय जांच ऐजेंसियों का दुरूपयोग केवल विरोधी दल की सरकार वाले राज्यों में कर रही है तथा जिन राज्यों में भाजपा की सरकारे हैं वहां बडे-बडे घोटाले खुलने के बाद भी मौन साधे हुए है। उन्होंने कहा कि कल मोदी सरकार के इशारे पर जम्मू कश्मीर में एसआई भर्ती घोटाले को लेकर सीबीआई द्वारा कई ठिकानों पर छापेमारी की गई परन्तु उत्तराखण्ड राज्य जहां पर भाजपा की सरकार है तथा रोज नये-नये घोटाले उजागर हो रहे हैं वहां पर अभी तक सीबीआई जांच की सिफारिश तक नहीं की जा रही है।
कंाग्रेस महामंत्री नवीन जोशी ने कहा कि उत्तराखण्ड में अधीनस्थ सेवा चयन आयोग में घोटाले के खुलासे के बाद लगातार गिरफ्तारियां हो रही हैं तथा सहकारिता विभाग और विधानसभा में अपनो को रेवडी बांटने का खेल सार्वजनिक हो गया है परन्तु भाजपा की केन्द्र व राज्य सरकार ने इन मामलो में मौन साध रखा है। उन्होंने कहा कि इसी प्रकार मध्य प्रदेश में गरीबों के खाद्यान्न पर शिवराज सरकार में बैठे सफेदपोषों द्वारा खुले आम डाका डाला गया है तथा करोड़ों रूपये का राशन भाजपा के राजनैतिक भ्रष्टाचार की भेंट चढ गया है परन्तु मोदी सरकार की सीबीआई और ईडी इस पर भी कार्रवाई करने से कतरा रही है। उन्होंने कहा कि भय, भ्रष्टाचार मुक्त देश व प्रदेश का जुमला देने वाली भाजपा शासित सभी राज्यों में आज भय और भ्रष्टाचार का ही बोलबाला है। उन्होंने कहा कि कभी सीबीआई को कांग्रेस पार्टी के पिंजरे में बंद तोते का आरोप लगाने वाली भाजपा आज इन्हीं जांच ऐजेंसियों का इस्तेमाल केवल अपने विरोधी पार्टी के नेताओं को उत्पीडित करने के लिए कर रही है। नवीन जोशी ने यह भी कहा कि कांग्रेस पार्टी के शीर्ष नेता एवं पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी जी की भारत जोड़ो यात्रा से भाजपा का शीर्ष नेतृत्व भयभीत हो गया है तथा इसी बौखलाहट में वह कांग्रेस पार्टी तथा उसके नेतृत्व के खिलाफ अनर्गल झूठे व मनगढंत आरोप लगा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!