मसूरी : अंतिम ओवर पर चौका – 10 महीने के मंत्री ने अपनी विधान सभा से सुरु की पैरवी

Share Now

प्रदेश के सैनिक कल्याण, औद्योगिक विकास, खादी ग्रामोद्योग एवं लघु, सूक्ष्म एवं मध्यम उद्यम विभाग मंत्री गणेश जोशी द्वारा अपने विधान सभा कक्ष में लोक निर्माण विभाग तथा राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधिकारियों के साथ मसूरी विधान सभा क्षेत्र के अन्तर्गत आने वाली सडक मोटर मार्ग के निर्माण, डामरीकरण और सुधारीकरण के सम्बन्ध में समीक्षा बैठक आयोजित की गई।
मंत्री द्वारा विभागीय अधिकारियों से मसूरी विधान सभा क्षेत्र के अन्तर्गत सड़को की वस्तुस्थिति का विवरण प्राप्त करते हुए उनका डामरीकरण तथा सुधारीकरण एक सप्ताह के अन्दर सुनिश्चित करने के निर्देश देते हुए कहा कि इस वित्तीय वर्ष की सडक निर्माण की अवशेष धनराशि से सभी सडक सुधार कार्य पूर्ण किये जायें। उन्होने कहा कि बालूगंज, चमासारी, धनोल्टी मार्ग इत्यादि जहाॅ पर सडक सुधारीकरण का कार्य वन विभाग की भूमि की आनापत्ति के चलते लम्बित है साथ ही कुछ ऐसे मोटर मार्ग जो सैनिक क्षेत्र की आनापत्ति के चलते लम्बित है उस सम्बन्ध में भी सम्बन्धित पक्षों से जरूरी समन्वय स्थापित करते हुए तेजी से निस्तारण करने के निर्देश दिये ताकि जनमानस को बेहतर सडक सम्पर्क मार्ग की सुविधा उपलब्ध हो सके।
मंत्री ने लोक निर्माण विभाग तथा राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधिकारियों को निर्देशित किया कि उनसे सम्बन्धित विभिन्न सडक मार्गो में तथा प्रमुख मोडों पर किसी भी प्रकार के अतिक्रमण को तत्काल हटाया जाय साथ ही सड़क मार्ग पर किसी भी प्रकार की ईंट, रेत-बजरी इत्यादि मैटिरियल को डम्पिंग न होने दें। इसके लिए उन्होने उप जिलाधिकारी तथा क्षेत्राधिकारी पुलिस मसूरी का सहयोग लेते हुए कार्यवाही करने के निर्देश दिये।
मसूरी में निर्माणधीन पार्किंग के सम्बन्ध में उन्होने निर्देश दिये कि इस कार्य को तेजी से पूरा करें। क्योंकि पर्यटन बहुल्य क्षेत्र मसूरी में बहुत यातायात रहता है जिससे अधिकतर जाम की समस्या भी बनी रहती है। अंत में उन्होेने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये कि विभिन्न सड़क निर्माण और सुधारीकरण के कार्यो में उचित गुणवत्ता रखी जाय तथा तेजी से कार्यो को पूरा किया जाय।
इस अवसर पर बैठक में अधीक्षण अभियन्ता लोक निर्माण विभाग पी. एस. बृजवाल तथा लोक निर्माण विभाग और राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधिशासी अभियन्ता डी.सी. नौटियाल, ओ.पी. सिंह सहित अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!