जोनल व सेक्टर मजिस्ट्रेटों को पोल-डे-मॉनिटिरिंग सिस्टम का दिया प्रशिक्षण

Share Now

देहरादून। जिला निर्वाचन अधिकारी/जिलाधिकारी डॉ0 आर राजेश कुमार ने विधानसभा सामान्य निर्वाचन-2022 को निष्पक्ष, शांतिपूर्वक सम्पन्न कराने हेतु वीसी गब्बर सिंह सामुदायिक हॉल सर्वे ऑफ इंडिया हाथीबड़कला में जोनल एवं सेक्टर मजिस्ट्रेट के लिए आयोजित पोल-डे-मॉनिटिरिंग सिस्टम (पीडीएमएस) प्रशिक्षण कार्यक्रम में संबोधित करते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। जिला निर्वाचन अधिकारी/जिलाधिकारी ने कहा लोकतंत्र के इस महापर्व में सभी की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी है कि टीम भवना से कार्य करते हुए इस कार्य को निष्पक्ष एवं शांतिपूर्वक ढंग से सम्पन्न करना है तथा लोकतंत्र के महापर्व पर प्रत्येक कार्मिक की अपनी भूमिका है, जिसका निर्वहन सभी को पूर्ण जिम्मेदारी से करना है यह तभी होगा जब सभी कार्मिक अपनी दायित्वों को ध्यानपूर्वक समझते हुए आत्मसात करेंगे। उन्होंने जोनल एवं सेक्टर मजिस्ट्रेट को मतदान के दिन दी जाने वाली सूचना आयोग द्वारा निर्धारित किये गए चक्र एवं समयानुसार करने तथा इसके लिए सभी सैक्टर एवं जोनल मजिस्टेªट को आपसी समन्वय के साथ ही सैक्टर मजिस्टेªट को अपनी-अपनी पोलिंग पार्टियों को रवानगी से पूर्व ही समन्वय बनाने तथा मतदान के दिन की रिपोर्टिंग की पूर्ण प्रक्रिया बताने को कहा। उन्होंने कहा कि सैक्टर मजिस्टेªट पीठासीन अधिकारियों से सूचना प्राप्त करते हुए निर्धारित समय पर सम्बन्धित रिटर्निंग अधिकारी को प्रेषित करेंगे
जिला निर्वाचन अधिकारी/जिलाधिकारी ने कहा कि मतदान दिवस में प्रथम चक्र में प्रातः 09ः00 से 09ः30 बजे तक द्वितीय चक्र में प्रातः 11ः00 बजे से 11ः30 बजे तृतीय चक्र में अपरान्ह 1ः00 बजे से 1ः30 बजे तक चौथे चक्र में अपरान्ह 3ः00 बजे से 3ः30 बजे तक पांचवे चक्र में 5ः00 बजे से 5ः30 बजे तक तथा छठे चक्र में 7ः00 बजे से मतदान कार्य समाप्ति तक की रिपोर्ट संबंधित रिटर्निंग अधिकारियों द्वारा एनकोर पर दी जानी है। जिसके लिए संबंधित जोनल एवं सेक्टर मजिस्ट्रेट की जिम्मेदारी बनती है कि वह समय से रिपोर्ट प्राप्त करते हुए पीडीएमएस पर एन्ट्री करने के साथ ही संबंधित रिटर्निंग अधिकारी को प्रेषित कर दें। ताकि वह आयोग द्वारा निर्धारित किए गए समय के अनुसार प्रत्येक चक्र की रिपोर्ट एनकोर पर करवा सकें।
जिला निर्वाचन अधिकारी/जिलाधिकारी ने कहा कि यह प्रशिक्षण बेहद महत्वपूर्ण है, इसलिए सभी कार्मिक इसको ध्यानपूर्वक प्राप्त करें तथा शंका होने पर इसका समाधान कर लें। उन्होंने पुनः जोर देते हुए कहा कि सभी सेक्टर एवं जोनल मजिस्ट्रेट अपनी-अपनी टीमों के साथ समन्वय कर लें तथा मतदान दिवस में आदान-प्रदान की जाने वाली निर्वाचन संबंधी सभी सूचनाओं के प्रेषित किए जाने की समयावधि के बारे में विस्तारपूर्वक चर्चा करें। ताकि मतदान दिवस में किसी प्रकार की कोई समस्या न रहें। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी/उप जिला निर्वाचन अधिकारी नितिका खण्डेलवाल ने कहा कि पीठासीन अधिकारी आधार एवं सैक्टर मजिस्टेªट रीड होती है इसलिए सभी को आपसी समन्वय से कार्य करते हुए इस कार्य को सम्पन्न करना है। उन्होंने सभी सेक्टर/जोनल मजिस्ट्रेट को मतदान दिवस में सभी कार्य समय से पूर्ण करने तथा पूर्व में ही अपनी टीम को अपना सर्वश्रेष्ठ देने हेतु प्रेरित किया। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व/नोडल अधिकारी कार्मिक एवं प्रशिक्षण ने सभी कार्मिकों को उनके दायित्वों एवं निर्वाचन के दिवस में बेहतर समन्वय हेतु अपने अनुभव साझा करते हुए कार्मिकों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी/उप जिला निर्वाचन अधिकारी नितिका खण्डेलवाल, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व के.के मिश्रा, मास्टर टेªनर पंचायतीराज अधिकारी एम एम खान सहित मास्टर टेªनर उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!