रानी पोखरी : दहेज हत्या मे मौसा गिरफ्तार – झूठ बोलकर दूल्हे को बताया था बैंक का डिप्टी मैनेजर

Share Now

थाना रानीपोखरी देहरादून अंतर्गत बीते 27 फरवरी को ससुराल मे आरती की संदिग्ध मौत के बाद वांछित नामजद अभियुक्त मृतका की सास राजेश्वरी देवी व मौसा चंद्रशेखर को आज गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश कर जेल भेजा गया , मृतिका के पति व देवर को पूर्व में ही दिनांक 28/02/22 को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है। पार्जनों ने बताया कि आरोपी पति के मौसा चंद्रशेखर द्वारा पवन को भारतीय स्टेट बैंक में डिप्टी मैनेजर के पद पर होना बताया था लेकिन बाद में पता चला कि पवन रावत भारतीय स्टेट बैंक में तैनात नहीं है

थाना रानीपोखरी पर पंजीकृत वादी मुकदमा विजेंदर सिंह निवासी थानों द्वारा अभियोग पंजीकृत कराया गया था कि मेरी पुत्री आरती की शादी दिनांक 12 दिसंबर 2021 को भोगपुर निवासी पवन रावत के साथ हुई थी मेरे द्वारा अपनी सामर्थ्य के अनुसार अपनी पुत्री को दान दहेज दिया गया था लेकिन उसके ससुराल पक्ष द्वारा शादी के बाद से ही लगातार मेरी पुत्री को तंग व परेशान किया जा रहा था तथा दिनांक 27 /02/2022 की रात्रि में उसके ससुराल पक्ष द्वारा मेरी पुत्री की हत्या की गई है तथा मेरी पुत्री को मृत अवस्था में जौली ग्रांट हॉस्पिटल में भर्ती किया गया है जिसमें उसके पति पवन रावत देवर बिपिन रावत सास राजेश्वरी देवी और उसका मौसा चंद्रशेखर शामिल थे क्योंकि उसके मौसा चंद्रशेखर द्वारा पवन को भारतीय स्टेट बैंक में डिप्टी मैनेजर के पद पर होना बताया था लेकिन बाद में पता चला कि पवन रावत भारतीय स्टेट बैंक में तैनात नहीं है जिस कारण इन सब ने मिलकर मेरी पुत्री की हत्या कर दी गई है जिसके आधार पर थाना रानीपोखरी में अपराध संख्या 12/22 धारा 304 बी आईपीसी में नामजद उपरोक्त पंजीकृत किया गया विवेचना क्षेत्राधिकारी डोईवाला द्वारा की जा रही है दौरान विवेचना मृतिका के पति व देवर को पूर्व में ही दिनांक 28/02/22 को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है तथा शेष वांछित नामजद अभियुक्त मृतका की सास राजेश्वरी देवी व मौसा चंद्रशेखर को आज गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय में पेश कर जेल भेजा गया विवेचना विवेचना प्रचलित है

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!