लाल कुआं – साम ढलते ही हाथियो का गाव मे उत्पात – रात जग कर काटने को मजबूर आधा दर्जन गाव

Share Now

लालकुआं निकटवर्ती हल्दूचौड़ क्षेत्र के आधा दर्जन गांवों में पिछले कुछ दिनों से जंगली हाथियों ने जमकर आंतक मचा रखा है| हाथियों के आंतक से किसानों की कई एकड़ फसल बरामद हो गई है इतना ही नहीं आये दिन जंगली हाथियों से आंतक से गांव वालो में भय और जानमाल का खतरा बना हुआ है इसके साथ ही किसानों ने वन विभाग व स्थानीय जनप्रतिनिधियों से सुरक्षा व बराबद फसल के मुआवजे कि मांग है ।

लाल कुआं हल्दु चौड़ मे हाथियो का आतंक


बताते चलें कि बीते कुछ दिनों से हल्दूचौड़ के आधा दर्जन गावों में जंगली हाथियों के एक झुंड ने जमकर उत्पात मचा रखा है जिसे यहां निवास कर रहे लोग डरे सहमें हुएं हाथियों का अंतक इतना बढ़ गया है कि शाम ढलते ही हाथी गावों में घुसकर उत्पात मचाते है तथा जंगली हाथियों ने कई जगह दीवारों को तोड़कर क्षति पहुंचाई है वही हाथियों के खौफ से गांव वासी जगराता कर रहे हैं हाथियों से लोगों में दहशत का माहौल बना हुआ है।
इधर ग्राम प्रधान संगठनक की ब्लॉक अध्यक्ष रुक्मणी देवी ने वन विभाग एवं सरकार से मांग की है कि हाथियों के आवागमन आबादी क्षेत्रों में न हो इसके लिए कड़े प्रबंध किए जाएं ।
उन्होंने कहां कि हाथियों के तांडव से ग्रामीणों को खेती करना मुश्किल हो गया है तथा जान माल का भी खतरा बना हुआ है तथा लोग पलायन के लिए मजबूर हैं उन्होंने मांग कि है हाथियों के रास्ते में आ रहे अतिक्रमण एंव इंडियन तेल डिपो को भी हटाया जाए जिससे हाथियों को उनके जाने का रास्ता मिल सके।
उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रो में सोलर फेंसिंग तार लगाने की भी मांग की है जिससे लोगों को हाथियों का तांडव से निजात मिल सके।
उन्होंने ग्रामीणों से अपील करते हुए कहा कि शाम ढलते ही अपने घरों के अंदर रहे तथा शाम को बाहर ना निकले और सुबह पूरी तरह उजाला होने के बाद ही मॉर्निंग वॉक पर निकले क्योंकि शाम ढलते ही आबादी क्षेत्र में हाथी की आवाजाही शुरू हो जाती है जिससे जान माल का खतरा बना रहता है।

रूकमणी नेगी अध्यक्ष ग्राम संगठन

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!