जयंती पर याद किए गए अमर शहीद श्रीदेव सुमन

Share Now

देहरादून। उत्तराखंड क्रांति दल द्वारा अमर शहीद श्रीदेव सुमन जी की 106 जयंती पर विनम्र श्रद्धांजलि दी गयी द्य इस अवसर पर सुमन जी को याद करते हुए सुनील ध्यानी ने कहा कि श्रीदेव सुमन जी का जन्म जोल गाँव टिहरी गढ़वाल हरिराम बडोनी माता तारा देवी के यहां 25 मई 1916 को हुआ था, किसे पता था कि श्रीदेव सुमन भविष्य का जननायक बनेगा। मिडल तक कि पढ़ाई टिहरी मे करी द्यराजशाही के खिलाफ उन्होंने बिगुल फुका यही नहीं, गांधी जी के द्वारा चलाया गया नमक आंदोलन से लेकर सत्याग्रह मे देश कि आजादी मे अपनी बड़ी भूमिका निभायी द्य टिहरी राजशाही के खिलाफ उन्होंने प्रजामंडल का गठन किया, जिसमें सेकड़ों लोग जुड़े और टिहरी राजा के खिलाफ आंदोलन चरम सीमा तक पहुंचा जिसका यह परिणाम निकला कि श्रीदेव सुमन को टिहरी साम्राज्य मे प्रवेश करने पर रोक लगा दी, आखिरी मे राजा द्वारा उनको बंदी बनाकर जेल मे डाल दिया गया जहाँ उन्होंने व्यवस्था के खिलाफ अनशन रखा उनका अनशन 84 दिन चला अंत मे वीर नायक अमर शहीद श्रीदेव सुमन ने 25 जुलाई 1944 मे उनके आखिरी सांस ली द्य इस अवसर पर वक्ताओं ने यह भी कहा कि श्रीदेव सुमन जी के नाम पर टिहरी डेम का नाम सुमन सागर बाँध रखा जाय यह मांग उत्तराखंड क्रांति दल 2004 से करते आया हैं। इस अवसर पर डॉ शक्ति शैल कपरुवाण,दीपक गैरोला,जय प्रकाश उपाध्याय,शकुंतला रावत, किरन रावत कश्यप, सुशीला पटवाल, राजेंद्र गुसांईं, सुमित डंगवाल, वीरेंद्र,प्रभात डंडरियाल आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!