सतपाल महाराज के बयान ने खोल दी भाजपा की पोलः प्रीतम सिंह

Share Now

देहरादून। उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने काबीना मंत्री सतपाल महाराज के बयान पर कड़ी आपत्ति जताई है। प्रीतम सिंह ने कहा कि जिस तरह से सतपाल महाराज का बयान सुर्खियों में है जिसमें उन्होंने कार्यकर्ताओं की नाराजगी को कारण बताकर विभागों के ठेके छोटे करने का प्रस्ताव बनाने की बात की है ताकि ज्यादा से ज्यादा कार्यकर्ताओं को काम देकर संतुष्ट किया जा सके उसने भाजपा की मानसिकता को उजागर कर दिया है ।अपने कार्यकर्ताओं के असंतोष को साधने के लिए और आगामी चुनाव को देखते हुए सतपाल महाराज ने भाजपा कार्यकर्ताओं को संतुष्ट करने के लिए जिस घूस का इंतजाम किया है उसे प्रीतम सिंह ने दुर्भाग्यपूर्ण ही करार दिया ।
प्रीतम सिंह ने कहा कि यदि भाजपा को सभी ठेके अपने कार्यकर्ताओं को ही देने हैं तो फिर ऐसे में निविदाएं निकालने की क्या जरूरत है। प्रीतम सिंह ने आरोप लगाया कि वैसे भी पिछले साढे 4 सालों में यही देखने को मिला है कि भाजपा ने अंधा बांटे रेवड़ी अपने अपनों को दें इसी कहावत को चरितार्थ किया है। प्रीतम सिंह ने कहा आज प्रदेश की बेरोजगारी दर जोकि कॉन्ग्रेस 1.30 प्रतिशत पर छोड़ कर गयी थी आज 11 प्रतिशत के दुःखद आंकड़े पर पहुंच गई है, अच्छा होता यदि मंत्री महोदय प्रदेश के बेरोजगार युवाओं के लिए भी सहानुभूति और संवेदनशीलता दिखाते हुए बड़े पैमाने पर रोजगार सृजन की बात करते हैं और उस पर केंद्रित नीतियां बनाने का काम करते।
प्रीतम सिंह ने कहा मंत्री के द्वारा ऐसा बयान दिया जाना बेरोजगार युवाओं के जख्मों पर नमक छिड़कने जैसा है, आज जिस तरह से प्रदेश का युवा अवसाद ग्रस्त हो रहा है हताशा और निराश हो रहा है ऐसे में रोजगार के नए आयाम स्थापित करके उत्तराखंड के युवाओं को ज्यादा से ज्यादा संख्या में समायोजित करने का प्रयास किया जाना चाहिए, लेकिन ऐसा प्रतीत होता है कि इस प्रचंड बहुमत और डबल इंजन की सरकार में प्रदेश के युवाओं के हिस्से लाठियां खाना ही लिखा है।
 प्रीतम सिंह ने मंत्री महोदय को सलाह देते हुए कहा की अच्छा होगा यदि  महाराज प्रदेश के युवाओं की परेशानी को देखते हुए अपनी सरकार के द्वारा उन्हें कुछ मदद रोजगार के रूप में दिलवा सकते। प्रीतम सिंह ने कहा कि सतपाल महाराज के बयान से एक बात तो साफ हो गई है कि आज भाजपा को प्रदेश में अपना सूपड़ा साफ होते हुए दिखाई पड़ रहा है और अपने खेमे में कार्यकर्ताओं के बीच में भी जो असंतोष पनप रहा है उसको साधने के लिए महाराज की इस तरह की अनर्गल बयानबाजी भाजपा का चाल चरित्र चेहरा उजागर करती है ।प्रीतम सिंह ने सतपाल महाराज के उस बयान पर भी कटाक्ष किया जिसमें उन्होंने अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा बनाने की बात कही थी, प्रीतम सिंह ने कहा की पास नहीं है दाने अम्मा चली भुनाने इस कहावत पर यह प्रचंड बहुमत की सरकार कार्य कर रही है। प्रदेश के पास कर्मचारियों को देने के लिए तनख्वाह नहीं है और प्रदेश की जनता को बड़े-बड़े सपने दिखाए जा रहे हैं। अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के मुद्दे पर जिस तरह से प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं मंत्रियों के बीच में ही समन्वय का अभाव दिखा उससे तो ऐसा ही प्रतीत होता है कि प्रदेश में सरकार नहीं सर्कस चल रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!