नैनीताल : जिला योजना संरचना पर विशेष चर्चा बैठक आयोजित

Share Now

नैनीताल। शासन के निर्देशों के क्रम में जनपद स्तर पर जिला योजना संरचना का कार्य अत्यधिक महत्वपूर्ण होने की दृष्टिगत एवं जिला योजना संरचना के कार्यों को विशेष महता प्रदान करने के लिए जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल की अध्यक्षता मंे विकास भवन सभागार के भीमताल में जिला योजना सरचना पर विशेष चर्चा बैठक आयोजित हुई।
जिलाधिकारी ने रेखीय विभागों को आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए कहा कि  संसाधन प्रकृति जलवायु एवं किस क्षेत्र में  किस वस्तु का  उत्पाद एवं कार्य किया जा सकता है के तहत  जिला योजना के तहत  प्लान बनाएं, हॉर्टिकल्चर , एनिमल, एग्रीकल्चर एव डेरी आदि के क्षेत्र में अधिकारी फोक्स करें ताकि स्थानिय युवकों  एव   ग्रामीण काश्तकारों  को आसानी से स्वरोजगार उपलब्ध हो सके। व पलायन  रोका जा सके। उन्होंने मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देश है कि जनपद के सभी स्कूलों में प्रार्थना स्थल पर गिर्दा गीत लागू करें एव कक्षा 1 से लेकर 5 तक कुमाऊनी भाषा में पाठ्यक्रम प्रारंभ करें ,एवं सभी स्कूलों में सत प्रतिशत लैब निर्माण हेतु जिला प्लान के तहत है प्रस्ताव प्रस्तुत  करें,  इसके अलावा यह भी निर्देश दिए है कि स्कूलों में शत-प्रतिशत फर्नीचर उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें इस संबंध में शासन स्तर पर भी पत्राचार करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड के बच्चों को प्रदेश की सभी भाषाओं का ज्ञान होना अति आवश्यक है।
श्री गर्ब्याल ने कृषि पशुपालन एवं उद्यान के अधिकारियों  को हॉर्टिकल्चर , एनिमल, एग्रीकल्चर एव डेरी आदि के क्षेत्र पाठ्यक्रम प्लान बनाने के निर्देश दिए किस क्षेत्र में कौन सी खेती एवं स्वरोजगार संबंधी कार्य किए जा सकते हैं ताकि लोग  उस क्षेत्र के अनुकूल स्वरोजगार अपना सके। उन्होंने उद्यान अधिकारी को क्षेत्र में कीवी की अपार संभावना को देखते हुए अधिक से अधिक है पौधे लगाने के भी निर्देश दिए, उन्होंने उद्यान पर्यटन कृषि विभाग को जनपद के अलग-अलग स्थानों पर न्यूटी गार्डन बनाने के भी निर्देश दिए, तथा जहां-जहां मंडवा झंगोरा का उत्पादन की संभावना है उन स्थानों को चिन्हित करते सेंटर स्थापित करें तथा ओखल कांडा में शीघ्र कार्य प्रारंभ करें। उन्होंने  कहा कि रेखीय विभाग आपस में तालमेल बनाकर योजनाओं के संबंध में चर्चा करते हुए जनहित की योजनाओं को धरातल पर उतारना सुनिश्चित करें। उन्होंने रामनगर में उद्यान विभाग द्वारा निर्माणाधीन टेक  के संबंध में जानकारी लेते हुए 15 दिन में  कार्यों को पूरा करने के निर्देश दिए। 15 दिन मे कार्य पूर्ण नहीं किया जाता है तो  संबंधित का वेतन रोकने की कार्रवाई करने के निर्देश  दिए।
जिलाधिकारी ने कृषि अधिकारी को जनपद मे कृषि कलेक्टरों को सत्यापित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि जिन गांव में अत्यधिक आबादी है ऐसे गांवो को  फोकस करें। उन्होंने अपर परियोजना अधिकारी को जनपद मे मसाले, हल्दी अदरक के क्षेत्र में बेतालघाट कोशाकुटोली को टारगेट करने , एवं भीमताल में सी स्टोरीज एवं कोल्ड स्टोर निर्माण हेतु जगह चिन्हित करने के भी निर्देश दिए। इसके अलावा जिलाधिकारी ने  उद्यान अधिकारियों को अब तक जनपद में फ्लोरीकल्चर पोली हाउस के माध्यम हुए लाभ की भी सूची उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी संदीप तिवारी, डीएफओ टीआर विजू लाल, परियोजना निर्देश अजय सिह, जिला विकास अधिकारी गोपाल गिरी,अपर परियोजना निदेशक शिल्पी पंत, जिला अर्थसंख्याधिकारी मुकेश नेगी,सहायक निदेश डेयरी एनएस डुगरियाल,मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा0 बीएस जंगपांगी, अपर मुख्यचिकित्साधिकारी टीके टम्टा,डीपीआरओ सुरेश सती, मुख्य कृषि अधिकारी डी पी यादव महाप्रबन्धक उद्योग विपिन कुमार, मुख्य उद्यान अधिकारी डा0 नरेन्द्र कुमार के अलावा सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!