बच्चों को नशे से दूर रखने को लेकर एसएसपी ने ली विद्यालय के प्रधानाचार्यों की बैठक

Share Now

हल्द्वानी। बच्चों को नशे से दूर रखने को लेकर हल्द्वानी शहर, गौलापार, चोरगलिया व लालकुआं के निजी व सरकारी विद्यालय के प्रधानाचार्याे के साथ कैम्प कार्यालय, सभागार में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पंकज भट्ट ने बैठक की। बैठक में उपस्थित विद्यालय के प्रधानाचार्य को सम्बोधित करते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने कहा कि बैठक का ध्येय है कि जनपद को नशे से मुक्त रखा जाए। जनपद में लगातार बढ़ रही नशे की प्रवृत्ति पर चिंता जाहिर करते हुए एसएसपी पंकज भट्ट ने कहा कि पिछले वर्षों का मूल्यांकन करने पर पाया गया है कि युवाओं की नशे के प्रति प्रवृत्ति में वृद्धि हो रही है। जब तक नशीले पदार्थों की मांग रहेगी आपूर्ति भी होती रहेगी। नशा की मांग और आपूर्ति का सिलसिला जारी रहेगा। इसके लिए युवाओं को स्वयं से दृढ़ संकल्पित होकर नशे को न कहना होगा।
ऽ एस एस पी पंकज भट्ट ने विद्यालय के प्रधानाचार्य को पेरेंट्स टीचर्स मीटिंग के माध्यम से अभिभावकों को नशे के प्रति जागरुक व प्रेरित करने को कहा। उन्होंने कहा कि विद्यालय, प्रधानाचार्य व पुलिस को इस दिशा में कार्य करने की जरूरत है। उन्होंने प्रधानाचार्य के माध्यम से समस्त अभिभावकों से अपील की अपने बच्चों की दैनिक गतिविधियों की मॉनिटरिंग करें व बच्चों के साथ दोस्ताना रवैया के साथ अधिक से अधिक समय भी व्यतीत करें।
ऽ पुलिस अधीक्षक क्राइम डॉ जगदीश चन्द्र ने विद्यालय के प्रबन्धकों व प्रधानाचार्य को सम्बोधित करते हुए कहा कि बच्चे के सर्वांगीण विकास में माध्यमिक शिक्षा की अहम भूमिका है। उन्होंने बताया कि 16 से 18 वर्ष के कम उम्र के किशोरों के लिए लाइट मोटर व्हीकल एक्ट के अंतर्गत 50 सीसी की इलेक्ट्रिक गाड़ी ही अनुमन्य है। किशोरों द्वारा दोपहिया वाहन चलाने पर 25 हजार का जुर्माना व सरंक्षक को 03 वर्ष तक की सजा का प्रावधान है।
एस पी क्राइम डॉ चन्द्र ने कहा कि युवा पीढ़ी को नशे से दूर रखने के लिए उनको सृजनात्मक गतिविधियों जैसे स्लोगन,पेंटिंग गीत में सलंग्न रखना आवश्यक है। उन्होंने समस्त विद्यालयों को ट्रांसपोर्ट नियम का अनुपालन भी करने को कहा। इस अवसर उपस्थित प्रधानाचार्य से उत्तराखंड पुलिस एप डाउनलोड कराया गया व गौरा शक्ति एप की जानकारी भी दी गई। कार्यक्रम का संचालन सीओ बी एस धोनी ने किया। इस अवसर पर सिटी मजिस्ट्रेट ऋचा सिंह, निजी और सरकारी विद्यालयों के प्रधानाचार्य व प्रबन्धक उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!