एसटीएफ़ ने 23 लोगो को किया गिरफ्तार – अन्य की खोज जारी – टीईटी परीक्षा पेपर लीक करने का मामला

Share Now

उत्तर प्रदेश से बड़ी खबर-

शिक्षा के बाद रोजगार की दिशा मे आगे बढ़ रहे नौजवानो को एक बार फिर से धक्का लगा है | टीईटी परीक्षा सुरू होने के एक घंटे बाद बताया गया कि पेपर लीक  होने के चलते परीक्षा रद्द कर दी गई है | लंबे समय से परीक्षा कि तैयारी करने के बाद सुदूर क्षेत्रो से आए अभ्यर्थियो को भारी निराशा का सामना करना पड़ा | परीक्षार्थियों का कहना है कि बार बार पेपर लीक होने से बचने के लिए ऑनलाइन पेपर की व्यवस्था की जानी चाहिए ताकि उनका आने जाने का समय तो कम से कम बच सके |

यूपी पुलिस ने दावा किया है कि 10 बजे से शुरू होने वाली परीक्षा के शुरू होने के कुछ देर पहले ही पेपर लीक हुआ है| प्रशासन की  तरफ से एक महीने के भीतर दोबारा परीक्षा कराए जाने का दावा  किया जा रहा है | सूबे के शिक्षा मंत्री ने बताया है कि अभ्यर्थियों को दोबारा परीक्षा के लिए कोई भी फीस नहीं देनी होगी, मामले की जांच  एसटीएफ को सौंप दी गई है और उसने आपका काम भी सुरू कर लिया है | टीईटी का पेपर शुरू होने से पहले मथुरा,  गाजियाबाद, बुलंदशहर के व्हाट्सएप ग्रुप पर पेपर वायरल हो चुका था |

लखनऊ मे एडीजी प्रशांत कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए बताया है कि आज यूपी टीईटी की परीक्षा जो दो पारियों में होनी थी और  2336 सेंटर पर परीक्षा होनी थी जिसमें 199 94 18 परीक्षार्थियों को परीक्षा देनी थी | उन्होने बताया कि योगी सरकार में किसी भी परीक्षा में नकल नहीं हुई है इसलिए परीक्षाओं में शार्ट गैंग को पकड़ने के लिए पुलिस ने  एक जाल बिछाया गया था | बीती रात से अभी तक उत्तर प्रदेश के विभिन्न शहरों में 23 लोगों को पकड़ा गया है | लखनऊ से चार,  मेरठ से तीन वाराणसी और गोरखपुर में दो व्यक्तियों को पकड़ा गया है और  कौशांबी से भी एक व्यक्ति और प्रयागराज से 13 लोगों को पकड़ा गया है,  इन सभी लोगों को एसटीएफ ने पकड़ा है और उनके पास पेपरों की फोटो कॉपी बरामद हुई है| परीक्षार्थियों को एडमिट कार्ड के आधार पर ही बिना टिकट वापसी घर जाने कि सुविधा दी गई है |

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!