युवाओं के लिये प्रेरणा स्रोत है स्वामी विवेकानंद का जीवनः डॉ. धन सिंह रावत

Share Now

देहरादून। दून विश्वविद्यालय स्थित नित्यानन्द शोध संस्थान के सभागार में सायं 05 बजे मा. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिवस के अवसर पर योद्धा सन्यासी स्वामी विवेकानन्द जी के जीवन आदर्शो और प्रेरक प्रसंगों पर आधारित एकल नाट्य मंचन की प्रस्तुति राष्ट्रीय कलाकार दामोदर प्रकाश रामदासी द्वारा दी गयी। अपने एकल नाट्य मंचन के माध्यम से रामदासी द्वारा विवेकानंद जी के जीवन आदर्शों पर आधारित प्रस्तुति के माध्यम से युवाओं से प्रेरणापरक संवाद और तादात्म्य स्थापित किया गया और राष्ट्र निर्माण के लिए एक योद्धा की तरह स्वामी विवेकानंद के आदर्शो पर चलते हुए अपनी भूमिका निभाने के प्रति संकल्पबद्ध होने का आह्वान किया गया।
नाट्य प्रस्तुति के अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रूप में मुख्य अतिथि मा. मंत्री उच्च शिक्षा डा. धन सिंह रावत ने पुणे से आये राष्ट्रीय कलाकार रामदासी एवं उनकी टीम की प्रशंसा करते हुए कहा कि उन्होंने स्वामी जी को अपने नाट्य मंचन के माध्यम से जीवंत बना दिया और ऐसी प्रस्तुति जीवन में अमिट छाप छोड़ते हुए बदलाव का कारक बनती है। उन्होंने कहा कि आज देश के यशस्वी प्रधानमंत्री मा. श्री मोदी भी उसी संत सनातन परंपरा का ध्वज ऊँचा कर भारत के गौरव को स्थापित कर रहे जिसे स्वामी जी ने किया । दोनों विभूतियों का जीवन आदर्श हम सभी के लिए और विशेष रूप से युवाओं के लिए प्रेरणा स्रोत है। उन्होंने कहा कि, आज पूरा विश्व भारत और मोदी जी की तरफ एक विश्वास और उम्मीद से देख रहा है जैसा कभी स्वामी जी को देख रहा था. उन्होंने कहा कि दोनों एक ही संत परंपरा के संवाहक हैं और अत्यंत विकट स्थिति में भी देश में नयी ऊर्जा और गति का संचार किया है। उन्होंने कहा कि युवाओं को निश्चित तौर इनके जीवन मूल्यों से प्रेरणा प्राप्त करते हुए राष्ट्र निर्माण में अपनी भूमिका निभानी चाहिए। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि मा. महापौर देहरादून नगर निगम श्री सुनील उनियाल गामा ने कहा कि विवेकानन्द जी पूरे विश्व के युवाओं के लिए आदर्श हैं और उनके आदर्शों पर चल कर ही सशक्त और समर्थ भारत का निर्माण हो सकता है।
कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए मा. विधायक विनोद चमोली ने एकल नाट्य प्रस्तुति की सराहना करते हुए कहा कि, युवाओं में जीवन मूल्यों और आदर्शो को स्थापित करने के लिए महान विभूतियों के जीवन पर आधारित आदर्शो को जानने और समझने में ऐसी प्रस्तुति जीवन पर्यंत हमेशा अमिट छाप बनाये रखती है। उन्होंने ऐसे आदर्शो से प्रेरणा लेते हुए राष्ट्र निर्माण में अपनी भूमिका निर्वहन के लिए युवा वर्ग का आह्वान किया।
कार्यक्रम में मेयर देहरादून सुनील उनियाल गामा, विधायक धर्मपुर विनोद चमोली, कुलपति दून विश्वविद्यालय प्रो. सुरेखा डंगवाल, कुलपति श्रीदेव सुमन विश्वविद्यालय प्रो. पी. पी. ध्यानी, निदेशक उच्च शिक्षा डा. संदीप कुमार शर्मा, रूसा सलाहकार प्रो. एम. एस. एम. रावत, कुलसचिव डा. मंगल सिंह मन्द्रवाल, संयुक्त निदेशक उच्च शिक्षा प्रो. ए. एस. उनियाल, सहायक निदेशक उच्च शिक्षा डा. दीपक कुमार पाण्डेय, नोडल एडुसेट डा. विनोद कुमार सहित विभिन्न विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों से प्राध्यापक एवं छात्र उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!