उत्तरकाशी – महिला समूह ने बनाई सात सौ झालर 150 एलईडी बल्ब, 30 ट्यूब लाइट 30 हजार का मुनाफा।

Share Now

चूल्हा चौका से उत्तराखंड की महिलाओ की पहिचान अब पुरानी कहावत हो चली है| पहाड़ की महिलाए भी अब एलईडी बल्ब और ट्यूब लाइट जैसे इलेक्ट्रॉनिक्स फील्ड मे अपनी काबलियत दिखा रही है और साथ मे लाभ भी कमा रही है |
ऊर्जा संरक्षण दिवस के अवसर पर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने जनपद के स्वयं सहायता समूह एवं छात्र-छात्राओं के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से संवाद किया। मुख्यमंत्री ने छात्र छात्राओं से संवाद करते हुए ऊर्जा दिवस व उनके उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं दी।

इस अवसर पर काशी विश्वनाथ स्वयं सहायता समूह की मनीषा द्वारा मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया कि समूह द्वारा वर्तमान तक सात सौ झालर 150 एलईडी बल्ब, 30 ट्यूब लाइट बनाने का कार्य किया गया। तथा समूह द्वारा ₹1 लाख 30 हजार की सामग्री बेची गई जिसमें उन्हें 30 हजार का मुनाफा हुआ। इसी तरह अभी भी समूह के पास 1लाख 19 हजार का सामान अवशेष है जो हमारा सीधा लाभांश होगा।

जिलाधिकारी श्री मयूर दीक्षित ने मुख्यमंत्री जी को बताया कि जनपद में नेताला ग्राम ऊर्जा दक्ष ग्राम है यह गांव शत-प्रतिशत सौर ऊर्जा लाइट से आच्छादित गांव है। तथा जनपद में एलईडी,झालर, ट्यूबलाइट आदि निर्मित करने हेतु 16 महिला स्वयं सहायता समूह को प्रशिक्षित किया गया था। जिसमें वर्तमान में 5 महिला समूह अच्छा कार्य कर रही है। तथा महिला समूहों को इसका लाभ मिल रहा है।

जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद में स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए तेजी से कार्य किए जा रहे हैं फलस्वरूप वर्तमान में सौर ऊर्जा प्लांट स्थापित करने हेतु

विकास खंड डुंडा के अमित मोहन,नत्थी सिंह रावत,सरोजा देवी,विचित्र सिंह चौहान,विनीत मोहन बहुगुणा व विकास खंड भटवाड़ी की पूजा व्यास,अरविंद सिंह,अभिषेक रावत,भागवत सिंह रावत,अनूप भंडारी,ज्योतिर मोहन रतूड़ी सहित 11 लाभार्थियों को आवंटन पत्र जारी किए गए है। जिस पर माननीय मुख्यमंत्री जी ने जिलाधिकारी की प्रशंसा करते हुए बधाई एवं शुभकामनाएं दी। तथा भरोसा दिया कि सौर ऊर्जा प्लांट के चालू होने पर वे स्वयं प्लांट को देखने जनपद उत्तरकाशी आएंगे। ऊर्जा दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री ने एलईडी बल्ब, झालर, ट्यूब लाइट आदि का काम करने वाली महिला स्वयं सहायता समूह को प्रोत्साहित कर ₹50 हजार रिवाल्विंग फंड के तहत देने की घोषणा की।

इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी पीसी डंडरियाल, वरिष्ठ परियोजना अधिकारी उरेड़ा वंदना, अधिशासी अभियंता ऊर्जा सहित छात्र-छात्राएं व लाभार्थी उपस्थित थे।

    

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!