किशोरी के पेट से निकला बालों का गुच्छा

Share Now

देहरादून। बच्चों की गतिविधियों पर बहुत ध्यान रखने की जरूरत है। बच्चे मिट्टी के साथ-साथ बाल खाने के भी आदि बन सकते हैं। जिससे उनकी जान जा सकती है। मानसिक रूप से परेशान बच्चे ऐसा कर सकते हैं। विशेषज्ञ डाक्टरों ने बच्चों पर खास ध्यान रखने की अपील की है।
प्रेस क्लब में सोमवार को पत्रकार वार्ता में रोटरी क्लब सेंट्रल के अध्यक्ष रोहित गुप्ता, कृष्णा मेडिकल के वरिष्ठ डाक्टर डॉ सिद्धांत खन्ना ने बताया कि जीजीआईसी की एक 17 साल की किशोरी के पेट में बालों का गुच्छा मिला है। उन्हें छात्रा के बीमार होने की सूचना जीजीआईसी राजपुर रोड की प्रिंसिपल प्रेमलता बौड़ाई ने दी थी। जिस पर छात्रा का अल्ट्रासाउंड और सीटी स्कैन सिकंद डाइग्नोस्टिक में कराया गया। पता चला कि बच्ची को ट्राइको- बज़ार नाम की बीमारी है। जिसका डा. खन्ना और उनकी टीम ने ऑपरेशन किया।

बच्ची अभी अस्पताल में है और खतरे से बाहर है। जब बच्ची आई थी तो उसकी दिल की धड़कन भी बढ़ी हुई थी। बच्ची के पेट में 12’6 सेंटीमीटर और आंतों में 8’4 सेंटीमीटर का गुच्छा फंसा हुआ था। इसकी वजह से पेशेंट का पेट फूल रहा था और इंफेक्शन पूरे शरीर में फैल रहा था।ऑपरेशन न होने पर उसकी जान चली जाती। रोटरी क्लब ने बच्ची के ऑपरेशन का खर्चा वहन किया है। इस दौरान सिकंद से डॉ. कुणाल सिकंद, मुर्तज़ा सुम्बुल, क्लब के सचिव अजय बंसल, रोटेरियन स्वाति गुप्ता, ट्रेजरार शोभित भाटिया, अतुल कुमार,अभिनव अरोड़ा, रमन वोहरा आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!