केदारनाथ दर्शन कर लौटे तीर्थयात्रियों का वाहन भारी बोल्डरों की चपेट में आया, एक यात्री की मौत, 10 यात्री घायल

Share Now

रूद्रप्रयाग। केदारनाथ दर्शन कर लौटे तीर्थयात्रियों का वाहन बुधवार शाम हादसे का शिकार हो गया। वाहन में 11 लोग सवार थे, जिनमें से एक महिला की मौके पर ही मौत हो गई। शव को निकालने के लिए रेस्क्यू टीम को आयरन कटर से वाहन का एक हिस्सा काटना पड़ा। गनीमत रही कि वाहन सड़क किनारे लगी रेलिंग से अटक गया, अन्यथा सीधे 200 मीटर नीचे बह रही मंदाकिनी नदी में गिरता। बाबा केदार के दर्शन कर लौट रहे यात्रियों का वाहन रुद्रप्रयाग-गौरीकुंड राष्ट्रीय राजमार्ग पर मुनकटिया में पहाड़ी से गिरे भारी बोल्डरों की चपेट में आकर बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया। इस दौरान महाराष्ट्र की एक महिला यात्री की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि चालक सहित अन्य 10 यात्री घायल हो गए, जिसमें एक 12 वर्ष का बच्चा भी शामिल हैं। वाहन में 11 लोग सवार थे।
घायलों को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सोनप्रयाग अस्पताल में भर्ती किया गया है। जहां से कुछ यात्रियों को जिला चिकित्सालय रुद्रप्रयाग के लिए रेफर किया गया है। बुधवार को केदारनाथ के दर्शन कर अपराह्न 3.30 बजे महाराष्ट्र, बिहार व नेपाल के 10 यात्री गौरीकुंड पहुंचे। यहां से वह शटल सेवा (टैक्सी-मैक्सी) के जरिए लगभग सवा चार बजे सोनप्रयाग के लिए रवाना हुए। वाहन अभी बमुश्किल दो किमी आगे ही पहुंच पाया था कि मुनकटिया में पहाड़ी से भरभराकर भारी बोल्डर व पत्थर वाहन के ऊपर जा गिरे, जिससे सभी यात्री वाहन में ही फंस गए। इस दौरान वाहन का आगे का पूरा हिस्सा बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया। गनीमत रही कि सड़क किनारे रेलिंग के चलते वाहन अटक गया, अन्यथा दो सौ मीटर नीचे मंदाकिनी नदी में गिरता। दुर्घटना की सूचना पर एसडीआरएफ की रेस्क्यू टीम तत्काल मौके पर पहुंची। इंस्पेक्टर कर्ण सिंह रावत के नेतृत्व में दस सदस्यीय रेस्क्यू टीम ने वाहन में फंसे यात्रियों को निकालना शुरू किया। हादसे में पुष्पा मोहन भोंसले (62) पत्नी मोहन भोंसले, निवासी कास्टी, अहमद नगर महराष्ट्र की वाहन के अंदर दबने से मौत हो गई। शव को निकालने के लिए रेस्क्यू टीम को आयरन कटर से वाहन का एक हिस्सा काटना पड़ा। जबकि वाहन चालक रमेश सिंह (36) पुत्र गब्बर सिंह, निवासी बडासू, गुप्तकाशी और टीका राम (32) निवासी नेपाल गंभीर रूप से घायल हो गए। दोनों लोगों को बमुश्किल से वाहन से बाहर निकाला गया। वहीं, क्रुशना काले (12) पुत्र बाला साहेब, ज्योति बाला साहेब काले (40) पत्नी बाला साहेब, कल्पना काले रंगनाथ (59) पत्नी जगदीश काले रंगनाथ, राम सालूंके (38) पुत्र दत्तामेय, निवासी श्रीगोंदा, अहमदनगर महाराष्ट्र, गौतम कुमार (24) पुत्र सुनील कुमार मंडक व शिव कुमार (24) पुत्र ओम प्रकाश, निवासी पटना, बिहार, अंकित शर्मा (21) पुत्र उमाशंकर संतोष, निवासी जम्मुई, बिहार और पलमन (30), निवासी नेपाल को हल्की चोंटे आई हैं। एसडीआरएफ के इंस्पेक्टर कर्ण सिंह रावत ने बताया कि एक साथ टनों बोल्डर व पत्थर वाहन के ऊपर गिरने से यह हादसा हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!