सिविल अस्पताल में मासूम की सुरक्षा को लेकर सख्ती बरती जा रही

Share Now

रुड़की। सिविल अस्पताल में मासूम की सुरक्षा को लेकर सख्ती बरती जा रही है। अस्पताल की ओर से ज्वाइंट मजिस्ट्रेट से पत्राचार कर सुरक्षा मुहैया कराए जाने की मांग की गई है। ज्वाइंट मजिस्ट्रेट ने एसपी देहात से इस संबंध में वार्ता कर सुरक्षा मुहैया कराने की बात कही है। अब कोई भी बिना अनुमति के बच्ची से नहीं मिल सकता है। छह साल की मासूम का रुड़की सिविल अस्पताल में उपचार चल रहा है। डॉक्टरों की एक टीम 24 घंटे बच्ची की निगरानी में लगी है। सीएमएस डॉ. संजय कंसल खुद निगरानी कर रहे हैं। वहीं, अब बच्ची की सुरक्षा को लेकर भी अस्पताल प्रबंधन गंभीर हो गया है। दरअसल, बच्ची का हाल जानने के लिए लगातार लोग अस्पताल आ रहे हैं। ऐसे में बच्ची की सुरक्षा और पहचान उजागर होने का डर है।
इसके मद्देनजर सीएमएस डॉ. संजय कंसल ने ज्वाइंट मजिस्ट्रेट अंशुल सिंह से पत्राचार कर बच्ची के वार्ड के बाहर सुरक्षा मुहैया कराने की मांग की है। इस पर ज्वाइंट मजिस्ट्रेट ने एसपी देहात प्रमेंद्र सिंह से सुरक्षा मुहैया कराने की बात कही। एसपी देहात ने बच्ची के वार्ड के बाहर एक महिला और एक पुरुष सिपाही की तैनाती करने के निर्देश दिए हैं। ज्वाइंट मजिस्ट्रेट अंशुल सिंह ने बताया कि बच्ची की सुरक्षा को लेकर पुलिस को निर्देशित किया गया है। साथ ही जिलाधिकारी को पूरी स्थिति से अवगत कराया गया है। रुड़की-कलियर गंगनहर पटरी पर कार में छह साल की बच्ची और उसकी मां से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में पुलिस जल्द खुलासा कर सकती है। पुलिस ने सभी आरोपियों और उनकी कार को चिह्नित कर लिया है। रुड़की-कलियर गंगनहर पटरी पर 24 जून की रात कार सवारों ने लिफ्ट देने के बहाने महिला और उसकी छह साल की बेटी से सामूहिक दुष्कर्म किया गया था। बच्ची को गंभीर हालत में सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया था। सामूहिक दुष्कर्म की घटना की गूंज दून से लेकर दिल्ली तक पहुंची थी। सोमवार को दिल्ली से महिला आयोग की टीम ने सिविल अस्पताल पहुंचकर जानकारी ली थी। घटना के खुलासे के लिए पुलिस की चार टीमों को लगाया गया था। पुलिस ने कलियर से लेकर रुड़की तक कई स्थानों पर लगे सीसीटीवी कैमरे खंगाले और सर्विलांस का सहारा लिया। इस बीच पुलिस ने एक संदिग्ध बाइक सवार की सीसीटीवी फुटेज जारी की थी। करीब चार दिन बाद पुलिस को आरोपियों और कार की सटीक जानकारी मिली है। पुलिस सूत्रों का कहना है कि पुलिस ने मुख्य आरोपी बाइक सवार और कार में सवार चार आरोपियों को चिह्नित कर लिया है। साथ ही पता चला है कि वारदात में यूपी नंबर की कार का इस्तेमाल किया गया है। सूत्रों का कहना है कि वारदात को अंजाम देने के बाद कार सवारों ने गंगनहर की पटरी से होते हुए ही यूपी की सीमा में प्रवेश किया था। एसपी देहात प्रमेंद्र सिंह डोबाल का कहना है कि मामले में पुलिस की गहन जांच पड़ताल चल रही है। कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ जारी है। जल्द ही घटना का खुलासा किया जाएगा। पुलिस ने शक के आधार पर रुड़की के एक सुनार की दुुकान पर काम करने वाले एक युवक को हिरासत में लिया है। सूत्रों का कहना है कि युवक ही इस वारदात का मुख्य सूत्रधार है। यह वही युवक है जो सीसीटीवी कैमरे में बाइक पर महिला और बेटी को बैठाकर ले जाता हुआ दिखाई दे रहा है। पुलिस युवक से गहनता से पूछताछ कर रही है। कार सवार चारों आरोपी युवक के ही जान पहचान के हैं। सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता छह साल की बच्ची की सुरक्षा और देखरेख के लिए पुलिस व महिला आयोग बेहद गंभीर हैं। बताया जा रहा है कि बच्ची को नारी निकेतन भेजा जा सकता है। वहां पर बच्ची की देखभाल अलग से की जाएगी। बच्ची की मां भी उसके साथ नारी निकेतन जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!