चमोली – नन्दादेवी नेशनल पार्क-पर्यटकों की आमद शुन्य तो वन्य तस्कर सक्रिय – खतरे मे लुप्त प्राय कस्तुरी

Share Now

जोशीमठ:विश्व धरोहर स्थल नंदादेवी राष्ट्रीय पार्क से बड़ी ख़बर ….

विश्व धरोहर स्थल नन्दादेवी नेशनल पार्क में दुर्लभ कस्तूरी मृगों का अस्तित्व खतरे में.देश में दुर्लभ वन्य जीवों के संरक्षण के लिये उत्तराखण्ड का “राज्य पशु” घोषित है कस्तूरी मृग.पार्क प्रशासन की कड़ी चौकसी और गश्त के बाद भी नन्दादेवी नेशनल पार्क वन रहा दुर्लभ प्रजाति के कस्तूरा मृगों की कब्रगाह.
अंतरराष्ट्रीय प्रकृति संरक्षण संघ के अनुसार कस्तूरी मृग लुप्त प्राय श्रेणी की प्रजाति है। इस वन्य जीव को उसके कस्तूरी और मांस के लिए मारे जाने का खतरा है। इसे वन्यजीव संरक्षण अधिनियम, 1972 की अनुसूची एक में रखा गया है।
गत रविवार को पार्क के लाता खर्क बीट में पकड़े गये नेपाली वन्यजीव तस्करों की हई निशानदेही पर एकबार फिर सक्रिय हुई 15 सदस्यीय पार्क की गश्ती टीम नें लाता खर्क से आगे पार्क बफर जोन में छापा मारकर फिर दबोचे 5 घुसपैठिये वन्य जीव तस्कर.सभी नेपाली मूल कें है पकड़े गये वन्यजीव तस्कर. वन्यजीव तस्करों से इस बार 2 कस्तूरी ग्रन्थि.2 दुर्लभ कस्तूरी मृग खाल.2 पैर के साथ करीब 50 फंदे बरामद हुए है.एक हफ्ते में नन्दादेवी नेशनल पार्क के बफर जोन में 10 वन्य जीव तस्कर पकड़े जा चुके है.विश्व धरोहर का दर्जा प्राप्त सूबे के इस जैव विविधता से भरे नेशनल पार्क को शिकारियो की घुसपेठ और दूर्लभ प्रजातियों के वन्य जीवों की संख्या मेँ हो रही घटौती के चलते वर्ष 1982 में मानव गतिविधियो के लिऐ बन्द कर दिया गया था. लेकिन अब कुछ वर्षों से इस पार्क में पर्यटकों की आमद शुन्य हौ गई है और वन्य जीव तस्करों कि आमदा बढ़ने लगी है जिसको लेकर देश विदेश के वन्य जीव प्रेमियों में खासा आक्रोश देखनें क़ो मिल रहा है.
कहनी को तो वन विभाग को एक बार फिर बड़ी कामयाबी मिली है, एक हफ्ते के अंदर 10 वन तस्कर गिरफ्तार हुए है,वन विभाग की 15 सदस्यीय टीम ने विश्व धरोहर नंदादेवी राष्ट्रीय पार्क वन तस्करों की धर पकड़ कर रही है.और पार्क के अंदर 40 किंमी क्षेत्रफल मी गस्ती कर रही थी, इस बार पार्क कर्मियों की टीम ने लाताखर्क से 10 किंमी दूर हतोली नाले से 5 वन्यजीव तस्करों को गिरफ्तार कर उनके पास 2 कस्तूरी ग्रंथि,2 कस्तूरी खाल ,4 टांग ,50 फंदे, सहित हथियार बरामद हुआ है इससे पूर्व हुए वन तस्करों की गिरफ्तारी के बाद वन विभाग लगातार कई दिनों से गस्ती कर रहा था,और इसको लेकर दिन रात चारो पहर गस्ती कर रहा था, आखिरकार लाताखर्क से 10 किंमी आगे हतोली नाले से इनको गिरफ्तार किया गया,
: पकड़े गए वन तस्करों में जीत बहादुर पुत्र लाल शाही उम्र 42 साल ग्राम रातोली पोस्ट खल्लागाड़,जिला कालीकोट आँचल नेपाल,
सराफा साही पुत्र नाकचु साही उम्र 32 साल ग्राम कलमपुर, पोस्ट मदनघाट जिला कालीकोट नेपाल,गणेश थापा पुत्र पदम् थापा ,
ग्राम विचला, पोस्ट बास ,जिला हेलेख नेपाल,
कमल साही, और वीरेंद्र साही को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया है
विजय लाल आर्य वन क्षेत्राधिकारी नंदादेवी राष्ट्रीय पार्क

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!