नया खाता खोलने पर मिलेंगे 3000 रुपए? – पुलिस ने पकड़े दो साइबर ठग

Share Now

रूड़की। भगवानपुर पुलिस ने दो साइबर ठगों को पकड़ने में कामयाबी हासिल की है। आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर उन्हे जेल भेज दिया गया है। एसपी देहात प्रमेन्द्र सिंह डोबाल ने बताया कि भगवानपुर के निवासी पवन कुमार पांजियारा पुत्र बसंत पांजियारा ने बताया कि उनका बचत खाता भगवानपुर एचडीएफसी बैंक शाखा में है। उनके पास एक अज्ञात व्यक्ति का फोन आया, जिसने बताया कि उनका कोरियर आया है और उसके लिए 5 रुपए ऑनलाइन भेजने पड़ेंगे।


फोन करने वाले ने पवन से एटीएम की डिटेल ली और ओटीपी बताने के लिए कहा। इसके बाद पवन ने ओटीपी नहीं बताई, फिर भी उसके खाते से दो बार में दो लाख रुपए कट गए।पीड़ित पवन ने पूरे मामले की जानकारी भगवानपुर थाना पुलिस को दी। थानाध्यक्ष पीडी भट्ट ने मुकदमा दर्ज कर आलाधिकारियों को अवगत कराया। अधिकारियों के निर्देशानुसार भगवानपुर थानाध्यक्ष पीडी भट्ट के नेतृत्व में अलग-अलग टीमों का गठन किया गया। पुलिस ने इस प्रकार के अपराध करने वाले गैंग का डाटा इकट्ठा किया, जिसमें रमजान अली पुत्र मोमी रहमान (निवासी पूर्वी दुल्लापुर थाना ईट आहार जिला उत्तर दिनारपुर, पश्चिम बंगाल) और संजय मंडल पुत्र धूलापद मंडल (निवासी पोस्ट पूर्वी देवधर थाना रामदीघी जिला परगना दक्षिण पश्चिम बंगाल) को अलग-अलग बैंकों के एटीएम कार्ड एवं मोबाइल फोन के साथ कलियर स्थित पार्किंग ग्राउंड से गिरफ्तार किया। आरोपियों ने पुलिस पूछताछ में बताया कि उनके गैंग को ऑपरेट करने वाले व्यक्ति, जो कि पश्चिम बंगाल में रहता है। हम दोनों लोग गरीब और अनपढ़ लोगों को पैसों का लालच देकर खाता खुलवाते हैं और प्रति खाते के 3000 देते हैं और एटीएम और पासबुक अपने पास लेने के बाद मास्टरमाइंड अकबर को दे देते हैं। अकबर उन्हें प्रति खाते के 4 हजार रुपए देता है। आरोपियों ने बताया कि आज तक करोड़ों का लेनदेन इस प्रकार के 200 खातों में हो चुका है। इस बड़ी सफलता पर एसपी देहात ने पुलिस टीम की पीठ थपथपाई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!