BREAKING NEWS

अमृत महोत्सव – सीएम उत्तराखंड

सबका साथ सबका विकास – 200 करोड़ का राहत पैकेज

मतदाता जाम में , प्रत्यासी प्रचार में

437

जाम लगाने में, हम किसी से कम नही।

जाम लगने का कारण बन रहे चुनावी कार्यालय ।

गिरीश गैरोला।
मोदी जरूरी है अथवा राहुल या कोई अन्य, किन्तु आम जनमानस को सड़के खुली चाहिए जाम रहित चाहिए । आखिर इन्ही सड़को से होकर उन्हें अपने दैनिक कार्य पूर्ण कर अपने परिवार की रोजी रोटी का जुगाड़ करना है।
किंतु लोक सभा चुनाव के लिए राजनैतिक दलों के कार्यलय के पास लग्ज़री वाहन पार्क होने से अक्सर सड़के जाम होने लगी है, और परेशानी उन आम लोगो को झेलनी पड़ रही है जिनसे वोट मांगने के लिए ये सब कसरत हो रही है। नेता जी लोगों के दरवाजे पर वोट के लिए दस्तक दे रहे है तो जनता नेताजी द्वारा सड़क और लगाए जाम में फंसी पड़ी है। क्योंकि लोक सभा चुनाव में जागरूक मतदाताओं ने अपना मन पूर्व से ही बना रखा है लिहाजा दलों से निवेदन कि वे चुनावी कार्यलय की दरी पर कुछ देर बैठने के लिए अपना महंगा वाहन सड़क पर बेतरतीब खड़ा कर दे रहे है।



error: Content is protected !!