स्पीकर ऋतु खंडूड़ी ने विधानसभा में अधिकारियों व कर्मचारियों के साथ किया योगाभ्यास

Share Now

देहरादून। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूडी भूषण ने विधान सभा भवन, देहरादून में विधानसभा के अधिकारियों एवं कर्मचारियों के संग योगाभ्यास किया। इस वर्ष “मानवता के लिए योग’ थीम को अपनाते हुए विधानसभा अध्यक्ष ने विभिन्न आसनों के साथ योगाभ्यास किया।
इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि योग से मन के भीतर नकारात्मक शक्तियों के स्थान पर सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। शरीर, मन एवं आत्मा में संतुलन स्थापित होता है, जिससे मनुष्य एकनिष्ठ, एकाग्र एवं स्थिर होता है। उन्होंने आम जनता से अपील की कि सभी लोग योग को अपने दिनचर्या का अंग बनाए और तनावमुक्त, स्वस्थ होकर राष्ट्र निर्माण में योगदान दें। ऋतु खंडूड़ी ने कहा कि कोरोना जैसी महामारी से जब पूरी दुनिया परेशान थी तब  फिर योग ने पूरी दुनिया का ध्यान अपनी ओर खींचा। योग के प्रयोग एवं संतुलित जीवन शैली से ही हम शरीर को स्वस्थ रख सकते हैं। उन्होंने कहा कि सम्पूर्ण मानवता को भारतीय संस्कृति के इस अनमोल उपहार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने प्रयासों से वैश्विक स्वीकृति प्रदान करवाई है।
अवगत है कि विधानसभा परिसर में पूर्व विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल की पहल पर  21 जून, 2018 से प्रत्येक माह की 21 तारीख को योगाभ्यास कार्यक्रम अनवरत जारी है जिसमें विधानसभा के कार्मिक बढ़-चढ़कर योगाभ्यास कर रहे हैं, विधानसभा के कार्मिकों का कहना है कि जब से विधानसभा में योग शिविर का आयोजन किया जा रहा है तभी से वह निरंतर घर पर भी योग कर रहे हैंद्य
इस अवसर पर योगाचार्य विपिन जोशी ने योग के विभिन्न पहलुओं पर रोशनी डाली। उन्होंने बदलते मौसम के साथ योग कितना आवश्यक है, इस विषय पर बात रखते हुए उन्होंने कहा कि ध्यान, प्राणायाम, आसन की विभिन्न क्रियाएं मनुष्य को स्वस्थ रखती हैं। उन्होंने कहा कि जब मनुष्य स्वस्थ होगा, तभी स्वस्थ समाज की परिकल्पना को साकार किया जा सकता है।उन्होंने विधानसभा के कार्मिकों की योग से संबंधित जिज्ञासाओं का समाधान भी किया। उन्होंने कहा कि किसी भी बीमारी की शुरुआत हमारे द्वारा बरती गई अनियमितताओं से होती है। इन अनियमितताओं को नियमित योगाभ्यास से दूर किया जा सकता है। इस अवसर पर योगाचार्य नीरज डोभाल, योगाचार्य नीलम रावत, योगाचार्य सविता उपाध्याय, विधानसभा के  सचिव मुकेश सिंघल, संयुक्त सचिव चंद्र मोहन गोस्वामी, उप सचिव नरेंद्र रावत, उपसचिव हेम पंत, वरिष्ठ व्यवस्था अधिकारी दीपचंद, प्रमुख निजी सचिव अजय अग्रवाल, मुख्य प्रतिवेदक हेम गुरुरानी  सहित अन्य कार्मिक मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!