महिला आयोग ने नव विवाहिता की मौत पर लिया सज्ञान – बेरोजगार को एसबीआई का मैनेजर बताकर कराई थी शादी

Share Now

ऋषिकेश के थाना रानीपोखरी भोगपुर क्षेत्र में नवविवाहिता आरती की मौत के मामले में उत्तराखंड महिला आयोग के अध्यक्ष कुसुम कंडवाल ने संज्ञान लेते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के मामले में कठोर कार्रवाई के निर्देश दिए है ।

बीते दिनों नवविवाहिता आरती की संदिग्ध मौत हो गई थी। इस मामले में आरती के स्वजन ने उसके पति सहित ससुराल पक्ष के लोग के खिलाफ रानीपोखरी थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने इस मामले में पति और देवर को गिरफ्तार कर लिया था। आरती की शादी 21 दिसंबर को हुई थी।

उत्तराखंड महिला आयोग की अध्यक्ष कुसुम कंडवाल ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून को पत्र लिख कर कार्यवाही करने को कहा है । उन्होंने कहा कि संदिग्ध परिस्थितियों में नवविवाहिता की मौत हुई है। इस मामले में आवश्यक कार्रवाई करके दोषियों के खिलाफ कठोर से कठोर कार्रवाई अमल में लाई जाए।

चार आरोपितों में आरती के दूर के मामा चंद्रशेखर रावत भी शामिल हैं, जो कि आरोपित पवन का मौसा भी है। इसी व्यक्ति ने आरती और पवन की शादी करवाई थी। आरोप है कि उन्होंने पवन को भारतीय स्टेट बैंक में कार्यरत बताया था। मगर, पवन बेरोजगार था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!