झील की उठती गिरती लहरों पर रोमांच – जितना जोखिम उतना थ्रिल

Share Now

खेल में जितना जोखिम हो उतना ही रोमांच होता है इसलिए इसे एडवेंचर कहते हैं लेकिन आज हम आपको लहरों के ऐसे सफर पर ले चलेंगे जहां जोखिम  बिल्कुल नहीं है लेकिन रोमांच की आपको कोई कमी नहीं होगी तो देर किस बात की चलते हैं उत्तरकाशी की जोशी याड़ा झील पर जहां रोमांस से भरी उठती गिरती लहरें आपका इंतजार कर रहे हैं

देवी देवताओ के गंगा मे  स्नान से सुरू होने वाला बड़ाहाट का थौलु उत्तरकाशी का पौराणिक माघ मेला भले ही कोरोना काल के बाद दो साल नहीं हो पाया हो लेकिन इस बार मेले की तैयारियां जल थल और नभ  तीनों जगह  एक साथ देखी जा सकती हैं । रामलीला मैदान मे  थल सेना का मोर्चा है वही जोशीयाड़ा झील नेवी तो जिप लाइन वायु सेना का मोर्चा संभाले हुए है । छोटे  बच्चे से लेकर बुजुर्ग तक सभी लोगों के लिए इस  मेले में कुछ न कुछ जरूर खास  है ।

एक तरफ जहां देव डोलिया मकर संक्रांति पर गंगा स्नान के साथ माघ मेले का शुभारं

भ करती हैं,  वही श्रद्धालु भी अपने देवी-देवताओं के साथ गंगा स्नान कर उत्तरकाशी के पवित्र मंदिरों में दर्शन करते हैं । इसके साथ ही बाजार से खरीदारी चरखी झूला का भी आनंद लिया जा रहा है।

उत्तरकाशी के जोशीयाड़ा झील में वॉटर स्पोर्ट्स को लेकर भी अब लोगो मे  दिलचस्पी बढ़ रही है हालांकि  झील में पहले से ही वाटर स्पोर्ट्स के कई गतिविधियां संचालित हैं,  लेकिन इस बार टिहरी झील से कुछ खास एडवेंचर्स का सामान,  मेला घूमने वालों के लिए विशेष मंगाया  गया है। झील के ऊपर एक रस्सी पर हवा मे तैरते  हुए भी लोग ज़िप

लाइन पर रोमांच  का अनुभव कर सकते हैं उत्तरकाशी जिला पंचायत के अध्यक्ष दीपक बिजलवान ने झील में वॉटर स्पोर्ट्स का मेले के लिए खास तौर पर उद्घाटन किया

 

उन्होंने बताया कि माघ मेला सिर्फ जलेबी पकौड़ी खाने तक सीमित न रहे  बल्कि समाज के हर उम्र हर वर्ग के लोगों के लिए इस मेले में कुछ न कुछ हो ऐसी व्यवस्था की जा रही है और आने वाले समय में मेले का स्वरूप और अधिक बेहतरीन किया जाएगा।

चलिये आपको बताते है कि कैसे आप जेट स्की पर सवर होकर झील की  लहरों पर हवा से बात कर सकते है , स्पीड बोट पर अपने परिवार के साथ लहरों का सफर कर सकते है अथवा पैदल बोट पर खुद साइकल कि तरह पैडल चलाकर झील के बीचों बीच कॉफी का आनंद ले सकते है।

सावधान जरा सी असावधानी जान पर भारी पड़ सकती है । एडवेंचर के खेल में जितना जितना मजा है थ्रिल है  उतना ही रिस्क भी है , इसलिए हमेसा सावधान रहने की जरूरत है अगर आपने बगैर प्रशिक्षित गाइड के दिशा निर्देश के पानी में उतरने की कोशिश की तो आप खतरे में पड़ सकते हैं जैसा कि इस बालक ने जाने-अनजाने अपनी जान को खतरे में डाल लिया । ऊपर वाले का शक्र है कि इसने  लाइफ जैकेट पहन राखी थी नहीं तो आज का खेल उसकी जान पर भारी पड़ सकता था । दरअसल कायक से सवर इस युवक को आभास  नहीं था कि सामने से पावर स्पीड बोट आ रही है और वह अपने आप को संभाल नहीं सका और एक बड़ा हादसा होते-होते टल गया

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!