चार धाम यात्रा के दौरान इस अंदाज मे नजर आएगी उत्तराखंड पुलिस

Share Now

 

हमारा प्रयास रहेगा कि जितने भी तीर्थयात्री प्रदेश मे चार धाम यात्रा के तहत  आ रहे हैं उन्हें किसी भी प्रकार के ट्रैफिक जाम या आपदा में न फसना पड़े। वे सकुशल अपने यात्रा करके अपने गनत्वयों को जाएं। पर्यटन पुलिस का गठन इस उद्देश्य से किया गया है कि वे पर्यटकों अधिक से अधिक मदद कर सकें। पर्यटन को  पर्यटन स्थलों के सम्बन्ध में जानकारी होने के साथ-साथ अनुशासित होकर पर्यटकों के साथ मृदुल भाषी व विनम्र व्यवहार करना है।अशोक कुमार, पुलिस महानिदेशक, उत्तराखण्ड  द्वारा चारधाम यात्रा के दृष्टिगत पर्यटन पुलिस कर्मियों हेतु पुलिस लाईन देहरादून में आयोजित 06 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में हिस्सा लेटे हुए जवानों को दिशा निर्देश दिए 

पर्यटन पुलिस के इस प्रशिक्षण कार्यक्रम प्रशिक्षण का उद्देश्य पर्यटन पुलिस के जवानों को अच्छा आचरण, व्यवहार, शिष्टाचार, पर्यटन संबंधी व्यवस्थाओं के बारे में बताते हुए अतिथि देवो भवः भाव से पर्यटकों के साथ विनम्र, शालीन व्यवहार संवाद एवं दक्षता पूर्वक कर्तव्यों का निर्वहन करने का प्रशिक्षण देना था। यह प्रशिक्षण कार्यक्रम दिनांक 11 अप्रैल, 2022 से प्रारम्भ हुआ था, जिसमें गढ़वाल परिक्षेत्र के समस्त जनपदों से कुल 89 उप निरीक्षक तथा आरक्षियों ने प्रतिभाग किया।

समापन कार्यक्रम के दौरान अपने सम्बोधन में पुलिस महानिदेशक द्वारा अवगत कराया कि चारधाम यात्रा का प्रदेश के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। बाहरी प्रदेशों से आने वाले श्रद्धालु एवं पर्यटक यहां पर आकर जो अपने साथ अनुभव लेकर जांएगे उसमें आप सभी की अहम भूमिका होने जा रही है। हमारा प्रयास रहेगा कि जितने भी तीर्थयात्री आ रहे हैं उन्हें किसी भी प्रकार के ट्रैफिक जाम या आपदा में न फसना पड़े। वे सकुशल अपने यात्रा करके अपने गनत्वयों को जाएं। पर्यटन पुलिस का गठन इस उद्देश्य से किया गया है कि वे पर्यटकों अधिक से अधिक मदद कर सकें। आपको अपने तैनाती स्थल से सम्बन्धित समस्त जानकारी एवं पर्यटन स्थलों के सम्बन्ध में जानकारी होने के साथ-साथ अनुशासित होकर पर्यटकों के साथ मृदुल भाषी व विनम्र व्यवहार करना है।

आप सभी अपने साथ फीडबैक रजिस्टर जरूर रखें और उसमें यात्रियों एवं पर्यटकों का फीडबैक लें। आप सभी को फ्रस्ट एण्ड बॉक्स दी जाएगी जोकि जीवन रक्षक दवाईयों से लैस होंगे। ताकि आपातकालीन स्थिति में यात्रियों को प्राथमिक उपचार दिया जा सके। सभी प्रतिभागियों को शुभकामनायें देते हुए उन्होंने कहा की आप सभी इस प्रशिक्षण कार्यक्रम से लाभवन्तित होकर पर्यटकों की सहायता करते हुये प्रदेश व उत्तराखण्ड पुलिस का नाम रोशन करेगें।

प्रशिक्षण कार्यक्रम के दौरान पुलिस कर्मियों को श्री अर्पण यदुवंशी ( सेनानायक एस0डी0आर0एफ0) द्वारा एस0डी0आर0एफ0 के परिचय व कार्य प्रणाली, श्री अक्षय कोण्डे (पुलिस अधीक्षक यातायात देहरादून) व उनकी टीम द्वारा यातायात प्रबन्ध , डायवर्जन प्लान , पार्किग व्यवस्था,आधुनिक टैक्नोलाँजी के प्रयोग व सोशल मीडिया प्रबन्धन, श्रीमती पूनम चंद (अपर निदेशक उत्तराखण्ड पर्यटन विकास बोर्ड द्वारा उत्तराखण्ड पर्यटन, श्री पी0के0 पात्रो (मुख्य वन सरंक्षक उत्तराखण्ड) द्वारा जगंल सफारी , श्री विजय राणा (ए0टी0ओ0 पर्यटन विभाग) द्वारा चारधाम यात्रा , कर्नल श्री अश्विनी पुण्डीर (अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी, उत्तराखण्ड पर्यटन विकास बोर्ड) द्वारा राफटिंग , पैराग्लाइडिंग के दौरान सावधानी /सुरक्षा उपाय, श्री जगदीप खन्ना (प्रधानाचर्य आई0एच0एम0 देहरादून) द्वारा soft skill training, श्री सुनिल पन्त ( प्रशिक्षक आई0एच0एम0 देहरादून ) द्वारा प्रभावी सवांद व सकारात्मक दृष्टिकोण, निरीक्षक श्री विपिन चन्द पाठक (जनपद हरिद्वार) द्वारा चारधाम यात्रा के दौरान भीड़ प्रबन्धन , श्री जागेश गर्ग (प्रशिक्षक Franklin institute ) द्वारा व्यक्तित्व विकास, मुख्य आरक्षी अनूप चदं रमोला (एस0डी0आर0एफ0) व उनकी टीम द्वारा आपदा प्रबन्धन में बचाव एंव राहत कार्य व प्राथमिक चिकित्सा, श्री गौतम सिसोदिया , श्री चंद्र सिंह नेगी (योगा प्रशिक्षक) द्वारा योगा/प्रणायाम आदि विषयों पर प्रशिक्षण प्रदान किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!